दैनिक प्रार्थना

हमारे मन में सबके प्रति प्रेम, सहानुभूति, मित्रता और शांतिपूर्वक साथ रहने का भाव हो


दैनिक प्रार्थना

है आद्य्शक्ति, जगत्जन्नी, कल्याणकारिणी, विघ्न्हारिणी माँ,
सब पर कृपा करो, दया करो, कुशल-मंगल करो,
सब सुखी हों, स्वस्थ हों, सानंद हों, दीर्घायु हों,
सबके मन में संतोष हो, परोपकार की भावना हो,
आपके चरणों में सब की भक्ति बनी रहे,
सबके मन में एक दूसरे के प्रति प्रेम भाव हो,
सहानुभूति की भावना हो, आदर की भावना हो,
मिल-जुल कर शान्ति पूर्वक एक साथ रहने की भावना हो,
माँ सबके मन में निवास करो.

Wednesday 21 May 2008

मनमोहन जी की दिल्ली - कुछ तस्वीरें

कुछ दिन पहले मनमोहन जी ने शीला जी की पीठ थपथपाई और धन्यवाद दिया कि उन्होंने मनमोहन जी को रहने के लिए एक ऐसी दिल्ली दी है जो भारत में सबसे सुंदर, साफ-सुथरी और हर-भरी है. वह प्रधान मंत्री है, उन्होंने जो कहा है जरूर सही होगा. हो सकता यह गुस्ताखी हो पर दिल्ली ki कुछ तस्वीरें आप भी देख लीजिये:











No comments: