दैनिक प्रार्थना

हमारे मन में सबके प्रति प्रेम, सहानुभूति, मित्रता और शांतिपूर्वक साथ रहने का भाव हो


दैनिक प्रार्थना

है आद्य्शक्ति, जगत्जन्नी, कल्याणकारिणी, विघ्न्हारिणी माँ,
सब पर कृपा करो, दया करो, कुशल-मंगल करो,
सब सुखी हों, स्वस्थ हों, सानंद हों, दीर्घायु हों,
सबके मन में संतोष हो, परोपकार की भावना हो,
आपके चरणों में सब की भक्ति बनी रहे,
सबके मन में एक दूसरे के प्रति प्रेम भाव हो,
सहानुभूति की भावना हो, आदर की भावना हो,
मिल-जुल कर शान्ति पूर्वक एक साथ रहने की भावना हो,
माँ सबके मन में निवास करो.

Thursday, 30 October, 2008

भाई दूज मनाइए कम्पूटर पर

पहले तो आप सब को भाई दूज पर शुभकामनाएं. 
फ़िर देखिये एक विडियो. 

फ़िर देखिये एक फिल्मी गीत


2 comments:

COMMON MAN said...

dooriyan najdeekiyan gayin, ajab ittefaq hai

राज भाटिय़ा said...

धन्यवाद