दैनिक प्रार्थना

हमारे मन में सबके प्रति प्रेम, सहानुभूति, मित्रता और शांतिपूर्वक साथ रहने का भाव हो


दैनिक प्रार्थना

है आद्य्शक्ति, जगत्जन्नी, कल्याणकारिणी, विघ्न्हारिणी माँ,
सब पर कृपा करो, दया करो, कुशल-मंगल करो,
सब सुखी हों, स्वस्थ हों, सानंद हों, दीर्घायु हों,
सबके मन में संतोष हो, परोपकार की भावना हो,
आपके चरणों में सब की भक्ति बनी रहे,
सबके मन में एक दूसरे के प्रति प्रेम भाव हो,
सहानुभूति की भावना हो, आदर की भावना हो,
मिल-जुल कर शान्ति पूर्वक एक साथ रहने की भावना हो,
माँ सबके मन में निवास करो.

Thursday 14 August 2008

आम आदमी की सरकार का एक चहरा यह भी है

कारगिल युद्ध सभी को याद होगा। सरकार ने एलान किया था कि इस युद्ध में शहीद हुए फौजिओं के आश्रितों को पेट्रोल पम्प दिए जायेंगे. एक शहीद फौजी की मां ने भी आवेदन दिया। सरकार ने उस का आवेदन यह कह कर ठुकरा दिया कि वह मेट्रिक पास नहीं है।

ओलम्पिक में स्वर्ण पदक जीतने पर महाराष्ट्र सरकार ने बिंद्रा को दस लाख रुपए ईनाम देने का ऐलान किया। एक अखबार ने लिखा एक पहलवान के बारे में जिस ने भारत के लिए पहला पदक जीता था, हेलसिंकी ओलम्पिक में पहलवानी प्रतियोगिता में, कांस्य पदक। यह पहलवान जाधव महाराष्ट्र का था और बहुत गरीबी में इस ने जिंदगी गुजारी। हेलसिंकी जाने के लिए उस ने जो उधार लिया था उसे चुकाने में सारी जिंदगी लगा रहा और एक बेनाम मौत मर गया।

दिल्ली के तैमूर नगर में गैरकानूनी तौर पर रह रहे बांग्लादेशियों ने दिल्ली पुलिस की जम कर पिटाई की। पुलिस बेचारी स्व-रक्षा में भी गोली नहीं चला सकी। आखिरकार मामला मुस्लिम वोटों का है।

6 comments:

अनुराग said...

ek hi sarkaar ke do chehre .....

महामंत्री-तस्लीम said...

शायद इसे ही कहते हैं हाथी के दाँत खाने के और दिखाने के और।

Anil Pusadkar said...

sarkaar nahi sarkas,circuis hai ye

संगीता पुरी said...

निर्बल के बल राम होते हैं और सबलों के सरकार।

राज भाटिय़ा said...

यह सब भारत मे ही हो सकता हे
धन्यवाद

PREETI BARTHWAL said...

इसी को कहते है सरकार राज