दैनिक प्रार्थना

हमारे मन में सबके प्रति प्रेम, सहानुभूति, मित्रता और शांतिपूर्वक साथ रहने का भाव हो


दैनिक प्रार्थना

है आद्य्शक्ति, जगत्जन्नी, कल्याणकारिणी, विघ्न्हारिणी माँ,
सब पर कृपा करो, दया करो, कुशल-मंगल करो,
सब सुखी हों, स्वस्थ हों, सानंद हों, दीर्घायु हों,
सबके मन में संतोष हो, परोपकार की भावना हो,
आपके चरणों में सब की भक्ति बनी रहे,
सबके मन में एक दूसरे के प्रति प्रेम भाव हो,
सहानुभूति की भावना हो, आदर की भावना हो,
मिल-जुल कर शान्ति पूर्वक एक साथ रहने की भावना हो,
माँ सबके मन में निवास करो.

Saturday, 21 June, 2008

कनकलता को न्याय मिलेगा

आप में से जो लोग कनकलता के साथ हुए अन्याय के बारे में जानकारी रखते हैं उनके लिए एक खुशी की ख़बर है. अब यह उमीद हो चली है की कनकलता को न्याय मिलेगा. कनकलता के साथ खड़े हुए सभी साथिओं को वधाई.

1 comment:

महेंद्र मिश्रा said...

bahut badhiya kanakalata ko jaruar nyay milega. dhanyawaad.